अगस्त 15, 2019

ATTEMPT IN ENGLISH

Results

#1 विश्व जैव इंधन दिवस कब मनाया जाता है?

10 अगस्त को प्रतिवर्ष विश्व जैव इंधन दिवस के रूप में मनाया जाता है, इसका उद्देश गैर-जीवाश्म इंधन के बारे में जागरूकता फैलाना है। जैव इंधन नवीकरणीय, प्राकृतिक रूप से नष्ट होने वाले (बायो-डिग्रेडेबल) तथा पर्यावरण के अनुकूल होते हैं।
महत्त्व
इस दिन वर्ष 1893 में सर रुडल्फ़ डीजल (डीजल इंजन के आविष्कारक) ने पहली बार मैकेनिकल इंजन का परीक्षण सफलतापूर्वक किया था। उनके शोध से यह अनुमान लगाया गया था कि अगली शताब्दी में जैव इंधन, जीवाश्म इंधन का स्थान ले लेगा।
भारत में विश्व जैव इंधन दिवस का आयोजन पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा मनाया जाता है। इस वर्ष विश्व जैव इंधन दिवस प्रोग्राम को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में मनाया गया। इस दौरान एथेनॉल, बायो-डीजल, बायो-CNG और सेकंड जनरेशन जैव इंधन पर विचार विमर्श किया गया।
जैव इंधन के लाभ को देखते हुए सरकार इसे बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है। जैव इंधन के उपयोग से भारत की जीवाश्म इंधन पर निर्भरता कम होगी और इससे भारत के आयात में काफी कमी आएगी। केंद्र सरकार ने जून 2018 में राष्ट्रीय जैव इंधन नीति को मंज़ूरी दी, इसका उद्देश्य एथेनॉल को बढ़ावा देना है। भारत में जैव ईंधन सामरिक महत्व रखता है क्योंकि यह भारत में मेक इन इंडिया, कौशल विकास और स्वच्छ भारत अभियान जैसी चल रही पहलों के साथ अच्छी तरह से कार्य करता है। यह आयात में कमी, किसानों की आमदनी में वृद्धि , रोजगार , जैसे अवसर भी प्रदान करता है।

#2 किस राज्य की सरकार ने जनजातीय लोगों के ऋण को माफ़ करने की घोषणा की है?

मध्य प्रदेश सरकार ने विश्व जनजातीय दिवस के अवसर पर राज्य में जनजातीय लोगों द्वारा लिए गये ऋण को माफ़ करने की घोषणा की है। सरकार जनजातीय लोगों को डेबिट कार्ड्स भी प्रदान करेगी, जिसके द्वारा वे एटीएम से 10,000 रुपये तक की राशि निकाल सकते हैं। इस निर्णय से 1.5 करोड़ जनजातीय लोगों को लाभ मिलेगा।

#3 सीबीआई का प्रॉसिक्यूशन डायरेक्टर किसे नियुक्त किया गया है?

सुधा रानी रेलंगी को सीबीआई का प्रॉसिक्यूशन डायरेक्टर नियुक्त किया गया है, इससे पहले वे कानून व न्याय मंत्रालय में संयुक्त सचिव के रूप में कार्यरत्त थीं। सीबीआई में उनका कार्यकाल दो वर्ष का होगा। सीबीआई में प्रॉसिक्यूशन डायरेक्टर का पद पिछले वर्ष से खाली चल रहा था, 24 दिसम्बर, 2018 को ओ.पी. वर्मा इस पद पर अपना कार्यकाल पूर्ण किया था।

#4 किस IIT ने मूत्र को रीसायकल करने के लिए एक सिस्टम को डिजाईन किया है?

IIT मद्रास के अनुसंधानकर्ताओं ने “प्रोजेक्ट वाटर चक्र” के तहत मानवीय मूत्र को रीसायकल करने के लिए एक सिस्टम का विकास किया है। इस प्रोजेक्ट ने जुलाई, 2019 में इंडियन इनोवेशन ग्रोथ प्रोग्राम 2.0 अवार्ड जीता था।
इस सिस्टम के तहत यूरिन को तीन दिन तक स्टोर किया जाता है, इससे यूरिया अमोनिया में परिवर्तित हो जाता है, स्टीम डिस्टिलेशन प्रक्रिया के द्वारा अमोनिया को अलग कर लिया जाता है। इस कमर्शियल ग्रेड लिक्विड का उपयोग डिटर्जेंट तथा रबर उद्योग में किया जा सकता है। इसके बाद शेष द्रव में मैग्नीशियम डाला जाता है, इस प्रकार इलेक्ट्रोकेमिकल प्रक्रिया के माध्यम से 90% जल को पुनः प्राप्त किया जा सकता है, इस जल का उपयोग पौधों को पानी देने तथा फ्लशिंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

#5 खादी व ग्राम उद्योग आयोग ने हाल ही में राजस्थान के किस जिले में ‘लेदर मिशन’ लांच किया है?

खादी व ग्रामोद्योग आयोग ने विश्व जनजातीय दिवस के अवसर पर राजस्थान के सिरोही जिले के चंदाला गाँव में “लेदर मिशन” लांच किया है। इसका उद्देश्य चमड़े का कार्य करने वाले कारीगरों को लेदर किट प्रदान करना है। इससे न केवल उनकी आय में वृद्धि होगी बल्कि परंपरागत कारीगरों को भी प्रेरणा मिलेगी।

finish
ATTEMPT IN ENGLISH
August 22, 2019

0 responses on "अगस्त 15, 2019"

Leave a Message

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Designed and developed by Bitibe
X